यू-टर्न / वाघेला ने पहले मीडिया को कहे अपशब्द, बाद में मुकर गए

  • अपनी बातों से मुकरना शंकर सिंह की पुरानी आदत
  • वाघेला ने भी कई बार मीडिया का दुरुपयोग किया

गांधीनगर. कहावत है कि शेर भूखा मर जाएगा, पर घास नहीं खाएगा। पर गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला पब्लिसिटी प्राप्त करने के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं। हाल ही में एक मामला सामने आया है, जिसमें उन्होंने किसी से बात करते हुए मीडिया को अपशब्द कहे, बाद में अपनी बात से मुकर गए।


पुरानी आदत है वाघेला की
हाल ही में किसी से फोन पर बात करते हुए उन्होंने समाचार माध्यमों को गाली दी, जब उनसे इसका खुलासा करने को कहा गया, तो उन्होंने कहा कि मैंने केवल एक मीडिया पर्सन के लिए ऐसा कहा। सबके लिए नहीं। अपनी बातों से मुकर जाना शंकर सिंह वाघेला की पुरानी आदत है।


आडियो वायरल
शंकर सिंह वाघेला ने जिससे फोन पर बात करते हुए मीडिया के लिए अपशब्द कहे, वह आडियो वायरल हो गया है। इस समय वे करीब-करीब संन्यास की स्थिति में पहुंच गए हैं। इसके बाद भी कभी-कभी सुर्खियों में आने के लिए विवादित बयान देते रहते हैं। हाल के बयान से उनकी आलोचना हो रही है।


वाघेला की गंदी चाल से मीडिया वाकिफ
फोन पर वार्तालाप करते हुए वाघेला ने मीडिया को बिना रीढ़ का और किसी का थूका चाटने वाला बताया। सरकार की वाहवाही कर उनसे विज्ञापन के रूप में रुपए लेने वाला बताया। उन्होंने यहां तक कहा कि यदि सरकार इनके विज्ञापन बंद कर दे, तो ये सब खत्म हो जाएंगे।


भास्कर ने याद दिलाया
इस पर भास्कर ने उन्हें याद दिलाया कि मीडिया बरसों से है। आप भी जब मुख्यमंत्री बने, उस समय के घटनाक्रम का साक्षी मीडिया था। किस तरह से आपने मीडिया का दुरुपयोग किया। सीएम पद पाने के लिए के लिए किस तरह की गंदी चालें चली। उसका पूरा गुजरात साक्षी है। फिर चाहे वह खजूरिया प्रकरण हो, या फिर गुजरात में कांग्रेसी विधायकों का भाजपा प्रवेश हो। इन सबमें उनकी भूमिका महत्वपूर्ण थी। इसे सभी जानते हैं।


आज हाशिए पर हैं वाघेला
भास्कर ने उन्हें आईना दिखाते हुए कहा कि आज आप हाशिए पर हैं। अगर आज आप किसी पर एक ऊंगली उठा रहे हैं, तो आपको यह नहीं भूलना चाहिए कि बाकी की तीन ऊंगलियां आपकी ओर ही हैँ।