छत्तीसगढ़ में मौसम / दिनभर रही तेज धूप के बाद शाम होते ही बरसे बादल; ग्रामीणों को मिला मुआवजा, बारिश से हुआ था नुकसान

  • रायपुर समेत, महासमुंद, राजनांदगांव, भिलाई और बिलासपुर में बारिश 
  • जशपुर जिला प्रशासन  ने दिया 529 लोगों को मुआवज
  • Official Youtube channel Subscribe

रायपुर. शहर में दिनभर तेज धूप रही। शाम होते ही मौसम ने अपना मिजाज बदला और बारिश हुई। तेज हवाएं भी चलीं। संतोषी नगर इलाके में कई मोहल्लों में कुछ देर के लिए बिजली बंद रही। बोरियाखुर्द इलाके में सड़क के किनारे छोटे पेड़ गिर गए। करीब 15 मिनट तक तेज हवाओं के साथ पानी बरसता रहा। दोपहर के वक्त भी कुछ देर के लिए बारिश हुई थी। मौसम विभाग ने आने वाले दो दिनों तक इसी तरह बारिश होने की संभावना जताई है। राजनांदगांव, बिलासपुर, भिलाई और महासमुंद में भी इसी तरह बारिश हुई।


राजनांदगांव

शहर में तेज बारिश काफी देर तक होती रही। यहां आरके नगर में पुलिस ने एक टेंट लगाया था। यहां से गुजरने वाली गाड़ियों को टेंट के पास रोका जाता था। तलाशी के बाद गाड़ियों को आगे जाने दिया जाता था। यह टेंट तेज हवा में उड़ गया। कई जगहों पर पानी भी भरा नजर आया।


बिलासपुर
सारा शहर बारिश की वजह से तर-बतर नजर आया। लोग मुख्य बाजार और सड़कों की ओर से घरों को लौट रहे थे। शहर में दुकानें भी बंद करने का वक्त हो चला था, तभी बारिश आई। काफी देर तक शहर पर घटाएं छाई रही। हल्की तेज हवाओं के साथ फिर फुहारें भी पड़ीं।


भिलाई

शुक्रवार को लगभग पूरे दिन लोगों को जबरदस्त गर्मी को झेलना पड़ा। गर्म हवाएं और धूप की वजह से मौसम काफी गर्म रहा। अचानक शाम को मौसम ने करवट ली। तेज बारिश ने वातावरण को बदलकर रख दिया। सुपेला इलाके में बादल गरजे भी और बरसे भी। कई बस्तियों में पानी भरा जिसे लोग निकालते दिखे।


जशपुर. 
कलेक्टर निलेशकुमार क्षीरसागर ने पत्थलगांव विकासखंड में ओलावृष्टि से प्रभावित गांवों के लोगों को मुआवजा दिया। यहां लगभग 60 गांव में 2720 मकान और 120 हेक्टेयर के खेतों पर धान, मक्का, साग-सब्जी की फसल प्रभावित हुई थी। 529 लोगों में 21 लाख 48 हजार 400 रुपए की राहत राशि दी गई।

Official Youtube channel Subscribe