प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY): 3.5 लाख में लीजिए सपनों का घर, ऐसे करें आवेदन


प्रधानमंत्री आवास योजना: स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने तक देश के सभी परिवार के पास जल कनेक्शन, शौचालय की सुविधा, 24 घंटे बिजली की सुविधाओं के साथ-साथ हर किसी के पास पक्के आवास हों, इसके लिए प्रधानमंत्री आवास योजना (अर्बन) मिशन  की शुरुआत की गई थी।  2015 में इस योजना को लागू किया गया था और 2022 तक इसे पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।
इस स्कीम के तहत पूरे देश में लगभग 1.12 करोड़ घर बनाए जाएंगे।  प्रधानमंत्री आवास योजना (अर्बन) मिशन के तहत बुकिंग शुरू हो चुकी है।  शहरों में अपने सपनों का आशियाना 3.5 लााख रुपये में बुक किया जा सकता है।  इस स्कीम के तहत इकनॉमिक वीकर सेक्शन (ईडब्ल्यूएस) के लिए घर का आकार 30 स्क्वॉयर मीटर हो सकता है।  यह कार्पेट एरिया है।  इस योजना का लाभ देश के उनलोगों को मिलता है जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं।

इस स्कीम के तहत पहली बार घर खरीदने वालों को क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम (CLSS) का भी फायदा मिलता है। सब्सिडी स्कीम के तहत होम बायर्स को होम लोन के इंट्रेस्ट पर सब्सिडी मिलता है। केंद्र सरकार ने इस स्कीम का लाभ उठाने की समय सीमा बढ़ाकर 31 मार्च 2021 कर दिया है। इस स्कीम का फायदा करीब 2.5 लाख मिडिल क्लास फैमिली को होगा।
उत्तर प्रदेश हाउसिंग डिवेलपमेंट काउंसिल ने 3516 प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए 19 शहरों में एक सितंबर से बुकिंग शुरू कर दी है। गरीब लोगों को यह घर केवल 3.5 लाख में मिलेगा। ऑनलाइन आवेदन 15 अक्टूबर तक किया जा सकता है। जिनकी सालाना इनकम 3 लाख से कम है, वे ही इस स्कीम का फायदा उठाने के लिए आवेदन कर सकते हैं। 3.5 लाख रुपये में गरीबों को घर मिलेगा और यह राशि उन्हें 3 साल में लौटाने होंगे। पहले यह रकम लौटाने के लिए 5 साल दिए जाने का प्रावधान था, जिसे घटाकर 3 साल कर दिया गया है। घर के आकार की बात करें तो कार्पेट एरिया 22.22 स्क्वॉयर मीटर और सुपर एरिया 34.07 स्क्वॉयर मीटर है।
3516 अलॉटेड घरों में लखनऊ में 816, गाजियाबाद में 624, मेरठ में 480, गोंडा में 396, मैनपुरी, फतेहपुर, हरदोई, रायबरेली और मेरठ के लिए 96-96 घर अलॉटेड हैं। इसके अलावा कानपुर देहात, कन्नौज, उन्नाव, बहराइच, मऊ, बलरामपुर, बाराबंकी के लिए 48-48 घर अलॉटेड हैं।
सबसे पहले प्रधानमंत्री हाउसिंग स्कीम की वेबसाइट पर https://pmaymis.gov.in/. पर लॉगिन करना है। यहां LIG, MIG or EWS के विकल्प दिए गए हैं। आधार नंबर समेत अन्य जानकारी भरने के बाद रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी होगी। 100 रुपये ऐप्लिकेशन फीस है और 5000 रुपये बैंक में जमा करने होते हैं।