झारखंड सरकार तीन मार्च को पेश करेगी बजट, 26 फरवरी से शुरू होगा सत्र


 झारखंड विधानसभा का बजट सत्र 26 फरवरी से 23 मार्च के दौरान आहूत होगा। हेमंत सरकार वित्तीय वर्ष 2021-22 का बजट आगामी तीन मार्च को पेश करेगी। पहले दिन राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू का बजट अभिभाषण होगा। राज्यपाल ने सोमवार को बजट सत्र आहूत की। इसके बाद मंत्रिमंडल सचिवालय एवं निगरानी विभाग (संसदीय कार्य) ने विधानसभा के बजट सत्र की कार्यवाही का विस्तृत ब्योरा जारी किया। पहले दिन राज्यपाल के अभिभाषण के अलावा अध्यादेशों की प्रति सभा पटल पर रखी जाएगी। इसके बाद शोक प्रकाश होगा। बजट सत्र के दौरान 16 कार्यदिवस होंगे और 10 दिनों का अवकाश होगा। बजट पेश होने के पूर्व एक मार्च को वित्तीय वर्ष 2020-21 का अनुपूरक बजट उपस्थापित किया जाएगा।

बजट सत्र की कार्यवाही 26 फरवरी : राज्यपाल का अभिभाषण। यदि हो तो प्रख्यापित अध्यादेशों की प्रतियों का सभा पटल पर रखा जाएगा और विधानसभा के निर्वाचित सदस्यों का शपथ होगा 

27 व 28 फरवरी : शनिवार-रविवार का अवकाश 

01 मार्च : प्रश्नकाल, द्वितीय अनुपूरक बजट पेश होगा, राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव, वाद-विवाद, सरकार का उत्तर और मतदान।

 02 मार्च : प्रश्नकाल, द्वितीय अनुपूरक पर सामान्य वाद-विवाद, मतदान और विनियोग विधेयक का उपस्थापन एवं पारण। 03 मार्च : प्रश्नकाल, वित्तीय वर्ष 2021-22 का बजट पेश होगा। 04 और 05 मार्च : प्रश्नकाल, वित्तीय वर्ष 2021-22 के बजट पर सामान्य वाद-विवाद। 

06 मार्च : 07 मार्च - बैठक नहीं 08 से 10 मार्च : प्रश्नकाल, वित्तीय वर्ष 2021-22 के आय-व्ययक के अनुदान मांगों पर सामान्य वाद-विवाद। सरकार का उत्तर और मतदान। 

11 मार्च : 14 मार्च - बैठक नहीं होगी। 15 से 18 मार्च : प्रश्नकाल, वित्तीय वर्ष 2021-22 के आय-व्ययक के अनुदान मांगों पर सामान्य वाद-विवाद।

 सरकार का उत्तर तथा मतदान। 19 मार्च : प्रश्नकाल, वित्तीय वर्ष 2021-22 के बजट पर सामान्य वाद-विवाद। सरकार का उत्तर तथा मतदान। 

आय -व्ययक के विनियोग विधेयक का उपस्थापन एवं पारण। 20 मार्च : 21 मार्च - बैठक नहीं होगी। 22 मार्च : प्रश्नकाल, राजकीय विधेयक एवं अन्य राजकीय कार्य (यदि हो)। 23 मार्च : प्रश्नकाल, राजकीय विधेयक एवं अन्य राजकीय कार्य (यदि हो)। गैर सरकारी संकल्प।