RSS कार्यकर्ता हमले पर गरमाई सियासत:भाजपा विधायक दिलावर का आरोप, हमले के मुख्य आरोपी का यूडीएच मंत्री धारीवाल से कनेक्शन; दोनों साथ गाड़ियों में घूमते हैं

 


कोटा जिले के रामगंजमंडी कस्बे में बीते दिनों RSS कार्यकर्ता पर हुए जानलेवा हमले के मामले में सियासत गरमा गई है। भाजपा के प्रदेश महामंत्री और विधायक मदन दिलावर ने इस मामले के मुख्य आरोपी आशु के गहलोत सरकार के यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल से कनेक्शन होने के आरोप लगाए हैं। विधायक ने कहा कि हिस्ट्रीशीटर आशु पाया को मंत्री धारीवाल का संरक्षण है। उन्हीं के संरक्षण से उसने (आशु) अवैध व गैरकानूनी कारोबार के जरिए कोटा में बड़ी संपत्तियां बना ली है। गुरुवार को विधानसभा पहुंचने पर दिलावर ने मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि आरोपी ने मादक पदार्थ (चरस, स्मैक) बेचकर, सट्‌टा खिलाकर कोटा में बड़ी संपत्तियां बना ली हैं। धारीवाल के संरक्षण के कारण ही ये लोग आज आगे बढ़ते जा रहे हैं। उन्होने आरोप लगाया कि आरोपी अक्सर धारीवाल के साथ गाड़ियों में भी घूमता रहता है। उन्होंने आगे कहा कि मंत्री धारीवाल ऐसे बदमाशों को संरक्षण दे रहे हैं, जो आरएसएस के लोगों पर गोलियों की बौछार कर रहे हैं। ये सब देखकर भी सरकार मौन है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि ऐसे बदमाशों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। उनकी गैरकानूनी कारोबार से खड़ी की गई संपत्तियों पर बुल्डोजर चलाकर जमींदोज किया जाए। आपको बता दें कि 9 फरवरी को रामगंजमंडी में RSS जिला संघ चालक दीपक शाह पर आशु पाया और उसके दो साथियों ने हमला कर दिया था। बदमाशों ने दीपक शाह पर गोली चलाई थी। वारदात तब हुई जग शाह श्रीराम मन्दिर निधि समर्पण अभियान के दौरान चंदा जुटाने जा रहे थे।

परिवहन मंत्री ने किया बचाव, भाजपा नेताओं ने वायरल की फोटो इधर, सदन में जब ये मामला उठा तो परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने धारीवाल का बचाव किया। खाचरियावास ने कहा कि बिना आधार व नोटिस के किसी मंत्री पर सदन में आरोप कैसे लगाया जा सकता है। ये विशेषाधिकार हनन की श्रेणी में आता है। वहीं भाजपा नेताओं ने धारीवाल और आरोपी आशु पाया की फोटो को सोशल मीडिया पर वायरल करना शुरू कर दिया। इसमें धारीवाल के अलावा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ भी पाया सेल्फी लेता हुआ नजर आ रहा है।