सिपाही भर्ती परीक्षा में पेपर लीक नहीं:90% रही उपस्थिति, बिहार भर से 60 गिरफ्तार

 


8415 पदों के लिए सिपाही भर्ती की प्रारंभिक परीक्षा दो पालियों में राज्य भर में आयोजित की गई। कई परीक्षा केन्द्रों पर हंगामा हुआ। केन्द्रीय चयन पर्षद सिपाही भर्ती की ओर से OSD कमलाकांत प्रसाद ने भास्कर को बताया कि राज्य भर के 611 सेंटर पर 6 लाख 30 हजार परीक्षार्थी बुलाए गए थे जिसमें 90 फीसदी उपस्थिति रही। उन्होंने बताया कि कदाचार के जुर्म में 60 की गिरफ्तारी की गई है। इस परीक्षा में पेपर लीक की चर्चा होती रही लेकिन कमलाकांत प्रसाद ने बताया कि पेपर लीक कहीं भी नहीं हुआ है और न ही किसी सेंटर पर परीक्षा रद्द की गई है।

सोशल मीडिया पर सुबह 9:35 से ही वायरल हुए पेपर परीक्षा सुबह 10 बजे से शुरू होनी थी लेकिन विभिन्न सोशल मीडिया माध्यमों पर कथित आंसर शीट सुबह 9:35 बजे से ही वायरल होने शुरू हो गए। बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल के सोशल मीडिया अकाउंट से भी आज दोपहर कथित आंसर शीट शेयर की गई। पार्टी का कहना था कि दोनों पालियों के प्रश्न पत्र लीक कर वायरल किए जा चुके हैं।

सामान्य का कटऑफ 70-72 जाने की संभावना पहली पाली की परीक्षा 10 से 12 जबकि द्वितीय पाली की परीक्षा 2 से 4 बजे तक आयोजित की गई थी। इस परीक्षा में सामान्य ज्ञान, हिंदी, इंग्लिश, मैथ, करेंट अफेयर्स के कुल 100 प्रश्न थे। प्रश्न सामान्य स्तर के थे। जिन बच्चों ने NCERT किताब और करेंट अफेयर्स का गहनता से अध्ययन किया होगा, उनकी परीक्षा अच्छी गई होगी। शिक्षक व विशेषज्ञ डॉ एम. रहमान ने बताया कि सामान्य वर्ग का कटऑफ 70-72 जाने की संभावना है। देर से पहुंचे अभ्यर्थियों ने जमकर किया हंगामा भागलपुर में राजकीय बालिका इंटर विद्यालय और शेखपुरा के DM उच्च विद्यालय केंद्र पर देर से पहुंचे अभ्यर्थियों ने जमकर हंगामा किया। पहली पाली के अभ्यर्थियों को सुबह 9:40 बजे प्रवेश करना था। इसके बाद गेट बंद कर दिया गया। इस कारण गेट के बाहर करीब 100 परीक्षार्थी बवाल करने लगे। स्कूल के गेट को जोड़-जोड़ पीटने लगे। 4 दर्जन से अधिक परीक्षार्थी गेट फांदकर अंदर चले गए। प्रशासन द्वारा सुरक्षा कड़ी कर दी गई। स्कूल प्रबंधन का कहना है कि 9.40 बजे के बाद इंट्री नहीं है। यह जानकारी अभ्यर्थियों को पहले ही दे दी गई थी। इधर, घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और अभ्यर्थियों को समझाने-बुझाने की कोशिश करने लगे। पुलिस के समझाने के बावजूद भी अभ्यर्थियों नहीं माने और हंगामा करते रहे है। पुलिस ने हंगामा कर रहे अभ्यर्थियों को खदेड़ दिया। तब जाकर मामला शांत हुआ।